दूसरों को सुनाने के लिऐ अपनी

दूसरों को सुनाने के लिऐ अपनी आवाज ऊँची मत करिऐ,
बल्कि अपना व्यक्तित्व इतना ऊँचा बनाऐं कि आपको
सुनने की लोग मिन्नत करें…!!!!